Showing posts with label शायरी दर्दे मोह्बत। 29/10/2019. Show all posts
Showing posts with label शायरी दर्दे मोह्बत। 29/10/2019. Show all posts

Tuesday, October 29, 2019

शायरी दर्दे मोह्बत। 29/10/2019

#EDMranjit

शायरी दर्दे मोह्बत। 29/10/2019

दर्द
Edmranjit.com

कोई सौगात नहीं जिंदगी जो  हार जाएं ।
बस दिल की बेबसी ने जलाया हैं। ।
प्यार भी तो वहीं किया करते हैं ज्यादा। 
जिन्हें वक्त ने हरपल रूलाया हैं ।।

मासुम सा दिल भी जल कर पत्थर। 
बन जाता है दुनियां में अक्सर ।
क्योंकि इस दुनियां में हर तरफ ।
बेवफ़ाई का साया छाया हैं । 

खता नहीं हो अश्क फिर भी  गिरते हैं ।।
सजा ना भी मिले लोग फिर भी डरते हैं ।
ऐसी बेईमान मोहब्त को भी कहते हैं ।
खुदा ने अपने ही हाथों से बनाया हैं। 

जमीं गवाह उनकी हो गई जो इश्क में। ।
ताबुत हो गए । 
कुछ तो समझे कुछ मिट गए फंसाने बने ।।
कुछ सब हारकर भी न पा सके मोहब्त  ।
सुना हैं वही मजनू वही रांझा दिवाने बने। 

कोई पढ़े दिवानगी पर किताबों में नहीं । 
नशा मोहब्त का तो मिट जानें पर होता हैं।। 
वक्त जब निकल जाता है परवाने का अक्शर। 
फिर प्यार में सिर्फ़ आँसुओं का समंदर रह जाता हैं।। 

What is Love ,only for sadness then sadness ,
दोस्तों जिंदगी में प्यार तभी करना जब आपमें गम सहने की ताकत हो। 
Www.edmranjit.com
Writing by ranjit choubeay .

29/10/2019

शायरी दर्दे मोह्बत। 29/10/2019

बंसत पंचमी कविता 👏30/01/2020

#EDMranjit बंसत पंचमी कविता👏30/01/2020 बंसत पंचमी कविता  इस माँ के बीना तो संसार अधुरा लगता था। नहीं आती तु तो सब सूना सूना लगता...