Posts

Showing posts with the label पिज्जा डिलवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी💐Pizza Delivery Sahil

पिज्जा डिलीवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'10/10/2019💐part 09

Image
#EDMranjit
पिज्जा डिलीवरी  साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'10/10/2019💐part 09
               आकाश साहिल बात क्या है भाई आज सैठ जी।
पहले तो तुम्हें सुनाते रहे फिर कुछ टाइम बाद तुम्हें।
वापस बुलाया और बोले मै बहुत पराउड फिल कर रहा।
हु कि तुम मेरे लिये काम करते हो ।साहिल एक बात तो समझ।
आती हैं की आज सुबह जो कुछ तुमनें किया उससे सैठ जी का।थोड़ा नुकशान हो गया।

और इसके लिये उनहोंने तुम्हें डांट लगाई। फिर अचानक से कुछ टाइम बाद बुलाकर शाबाशी भी दे रहे हैं। आकाश अरे दिपु तुमने कुछ जानते हो तो बताओ।
आकाश भईया बात ये हैं जब सैठ जी साहिल को डांट रहे थे उस टाइम उन्हें बस अपना नुकसान नजर आया था।

 लेकिन बाद मे जब (आई सी आई बेंक )से निशा मेम का फौन आया और उन्हौने सैठ जी से कहा की वाह सैठ जी आपका और साहिल का बहुत बहुत धन्यवाद ।आप लोगो की वजह से हमारे एक होनहार एडवाईजर की जान बच गई। अगर आपका साहिल वक्त पर उसको हौस्पिटल ना ले जाता तो डाक्टर का कहना था उसको बचाना मुश्किल हो जाता।

निशा मेम ने आगे कहा सेठ जी इस अच्छे काम के लिये परोपकार और हैल्प के लिये हम…

पिज्जा डिलीवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'03/10/2019💐part 08)

Image
#EDMranjit पिज्जा डिलीवरी  साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'03/10/2019💐part 08

            साहिल ऐं साहिल कहां खोये हो। तुम तो खोये हुऐ।
रेगिस्तान तान की तरह खो जाते हो।।
नही सुरभि में सोच रहा हु तुमने पहले मुझें उस दिन बुक मेला।
में देखा थोड़ी बात की उसके बाद मुझे बुक आँफर की जब मैने लेने से मना किया तो चोरी चुपके हमे फौलो किया और हम ये सब महज एक सयोग समझते रहे।।

सुरभि क्या यार अब तो मैने सब बता दिया ना की मैने तुम्हें एक दिन एक बेकरी में देखा बस मुझे लगा मील गया वो दोस्त जिसकी मुझे तलाश थी और वहीं से तुम्हें फौलो करने लगी। चाहती तो सब बुक मेले में भी बोल सकती थी लेकिन फिर मुझे सब कुछ जल्दी जल्दी लगता इसलिये खुद मैने ही थोड़ी मेहनत कर ली।।

साहिल हाहाहाहाहाहा। सुरभि अब इसमे हसनें वाली क्या बात हैं। नही यार बस तुम्हारी मेहनत पर मुझे हसी आ गई मुझे नही पता था दिल्ली आकर मुझे इतनें अच्छे दोस्त मीलने वाले हैं वरना पहलें ही आ जाता सुरभि हाहाहा शो फनी चलो अब ये बताओ तुम खुश तो हो ना।।

साहिल हा यार खुश हु क्यो तुम्हें खुश नही लग रहा। सुरभी हां …

पिज्जा डिलीवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'22/09/2019💐part 06)

Image
#EDMranjit। motivational love story.
पिज्जा डिलीवरी  साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'22/09/2019💐part 06)

साहिल यार आकश आज जब में लास्ट डिलीवरी करके निकल रहा था तो मैने कुछ नोटिस किया पर फिर लगा नही मेरा वहम हैं। लैकिन फिर भी मन कहता है नही वो सच था अब समझ नही आता में सही था या फिर वो और मन कहता है वहम नही है सच है।

 आकाश साहिल लेकिन क्या मुझे अब बतायेगा या फिर खुद ही सही गलत करता रहेगा। बात क्या है खुलकर बता। साहिल यार बीते रविवार को मैने छुट्टी की थी ये तो तुझे पता है आकाश हा पता है।

अब आगे यार उस दिन में प्रगति मैदान गया था वहाँ कुछ पेंटिंग्स और बुक्स कि प्ररद्शनी लगी थी तो मै भी कुछ पुरानी ऐतिहासिक बुक्स देखने लगा मुझे एक बुक पंसद आई लेकिन उसका प्राइज़ बहुत था यार पुरे तीन हजार नौ सौ । फिर मैने वो बुक रख दि लैकिन तभी एक लड़की आई और पुछने लगी हैलो क्या आप ये बुक ले रहे हो।

तो मैने कहा नही तो उसने कहा आप काफी टाईम से इस बुक को पढ़ रहे थे। इसका मतलब आपको पंसद आई हैं तो फिर आप झुठ क्यो बोल रहे हो फिर उसने मुझे गौर से देखा मुझे ऐसा लगा जै…

पिज्जा डिलीवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'20/09/2019💐part 05

Image
#EDMranjit.  Motivational love story.

पिज्जा डिलीवरी  साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'20/09/2019💐part 05)

साहिल आकाश से कहता हैं।
यार जब घर से भागा था था तो कुछ पता नही था कहां जाऊंगा क्या करूंगा बस भाग लिया रेलवे स्टेशन पर बैठा बैठा काफी देर तक सोचता रहा कहा जाऊ क्योंकि किसी के पास नही जाना चाहता था जहा भी जाना था बस अकेला ही रहना था।
फिर कितनी ट्रेन आती थी जाती थी बस सबको देखता और सोचता नहीं यहाँ नही कही और।

फिर यही देखते सोचते सुबह हो गई ऐसा लगा जैसे में कोई निर्णय ले ही नही पाऊंगा और फिर अचानक से एक दिल्ली ट्रेन आई कुछ टाइम वो रूकी रही बस फिर मैने भी टिकट लिया और बैठ गया।

आकाश बोला पर साहिल ये सब अभी क्यो सोच रहा हैं। साहिल नही यार तु समझ नही रहा में जो बता रहा हु वो बस ध्यान से सुन शायद जो में नही समझ पाया वो तु समझ जाऐ और मुझे बता सके की आखिर मेरे दिमाग में ऐसा क्या था जो में खुद ब खुद यहाँ आ गया।

आकाश यार तु क्या बोल रहा हैं फिलहाल तो मुझे अभी कुछ समझ नही आया। अच्छा आगे बोल। साहिल मुझे लगता था बचपन में जैसे में बहुत काबील वकील…

पिज्जा डिलवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी💐Pizza Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'14/09/2019💐

Image
#EDMranjit.  Motivational Story.

पिज्जा डिलवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी💐Pizza Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'14/09/2019💐part 2)Www.edmranjit.com


तो आखिर में साहिल को।
रात बिताने की जगह मिल जाती है।
वो एक सिक्योरिटी से कहता हैं।

सर क्या में यहाँ आप के पास रेस्ट कर सकता हु।
शायद सिक्योरिटी को दया आती हैं और वो कहता हैं।
ठिक हैं तुम आरम कर लो लेकिन सुबह जल्दी ही यहाँ से जाना होगा और वो गार्ड साहिल से पुछता हैं ।
पर तुम कहां से आऐ हो और भटक क्यो रहे हो।

साहिल अपनी पुरी कहानी सच सच बता देता हैं।
वो गार्ड जिसकी उम्र कोई 45 year की होगी।
वो साहिल से कहता हैं बेटा तुमने कदम तो बहुत गलत उठाया हैं।

पर अब करोगे क्या यहाँ तो कोई अपना भी नहीं तुम्हारा फिर कहां जाओगे कैसे रहोगे एक काम करो सुबह वापस घर निकल जाओ। साहिल नही अंकल कुछ भी काम कर लुंगा कही भी रह लुंगा पर घर नही जाना मुझे।
बातो ही बातो में शायद गार्ड को साहिल पर दया आने लगती हैं।

वो कहते हैं सही कहां तुमने तुम पढ़े लिखे तो हो ही कोई काम तो जरूर मिल जाऐगा।
लेकिन उसके लिये भी पहले तुम्हें भटकना होगा।
तब कही जाकर कु…

पिज्जा डिलवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी💐Pizza Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'12/09/2019💐

Image
#EDMranjit


पिज्जा डिलवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी💐Pizza Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'12/09/2019💐


Www.edmranjit.com
पिज्जा डिलवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी💐Pizza Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'12/09/2019💐

कहतें हैं जब इंसान कभी तनहा होता हैं। तो भीड़ से दुर जाने की कोशिश करता हैं एक ऐसी ही कोशिश साहिल भी करना चाहता था। शाहिल जो बनारस का रहने वाला हैं।अभी कुछ महिने पहले ही उसने अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी भुल की हैं। उसने अपनी पढ़ाई छोड़ दि हैं।
उसे लगता लाईफ में ज्यादा पढ़ना बेवकूफी हैं। शायद इसके लिये ही उसके पापा ने उसकी बहुत खिचाई की हैं। और इस बात से परेशान हौकर साहिल को लगता हैं उसका खुद का घर और उसके पापा उसके दुश्मन हैं। साहिल ने बहुत सोच समझकर घर छोड़ भाग लिया हैं वो घर से और अब इतनी बड़ी दुनिया में वो अकेला हैं। आज साहिल बनारस से दिल्ली आ गया हैं ।
यहाँ उसे कोई जानता भी नहीं और ना ही वो किसी अपने के पास जाना चाहता हैं। उसके पास बस एक बेग हैं जिसमें उसके कुछ कपड़े हैं। कुछ पैसे हैं जो ज्यादा दिन तक शायद उसकी मद्त ना कर पाऐ। साहिल दिल्…