पिज्जा डिलीवरी साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'26/09/2019💐part 07)

#EDMranjit   motivational love story.

 पिज्जा डिलीवरी  साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'26/09/2019💐part 07)


#पार्ट 7
.......
साहिल आज तो बहुत थक गया यार आज तो लगता हैं।
डिलीवरी कर कर के मेरी ही डिलवरी हो जाऐगी।
अरे नही तुम बताओ और कहा करके आना है आकाश में कर आता हु। नही यार साहिल बस एक और बाकी है तु यही रूक मै आता हु अभी यही अशोक नगर ही जाना है।

ठिक जाओ जल्दी आना भुख भी लगी हैं लंच का टाइम भी हो गया ।हा यार बस गया और आया साहिल तब तक तुम एक काम करो वो राजु मिठाई वाले के यहाँ से गरमा गरम ढोकले लेते आओ आज मन कर रहा है ढोकले खाने को ओके में ले आता हु पर आकाश तुम जल्दी आओ। अब जाओ हा मै निकलता हु ।

साहिल ये आकाश भी लंच मे आज ढोकले खाऐगा इसका भी जवाब नही ओके चलो अब उसके ढोकले ले आता हु। हैलो भाई आधा किलो ढोकला पैक कर दो और सुनो थोड़े गरम होने चाहिये। तभी साहिल को कोई पिछे से टच करता है हैलो मिस्टर जी आप हा क्यो हम यहाँ नही आ सकते ये वही लड़की हैं जो साहिल को बार बार कही ना कही मील जाती हैं।

साहिल मैम आप मुझे गलत समझ रही हो मै तो यहाँ ढोकले लेने आया हु । हैलो मिस्टर मैने कुछ नही समझा मै तो बस ये सोच रही हु तुमने वो बुक ली होती तो पढ़ के अब तक लौटा चुके होते ।लेकिन मैम सुनो मेरा नाम सुरभी हैं मैम मत बोला करो साहिल ओके सुरभी जी। हैलो सर आपके ढोकले हा एक मिनट ये लिजिये पैसे। तो मिस्टर आप का नाम जान सकती हु मै। जी मेरा नाम साहिल है।

अच्छा तो साहिल मुझे भी बहुत अजीब सा लगता हैं जब आप वहाँ मील जाते हो जहां मे किसी काम से जाती हु ।
माना की ये महज एक इतिफाक हैं लैकिन अगर ऐसे ही आप हमें मीलते रहे तो फिर मुझे कुछ करना पडेगा। साहिल सुरभी जी ये क्या बोल रही हो आप । सुरभी हसने लगती हैं कहती हैं ओके ओके डरो नही यार में मजाक कर रही हु।साहिल सुरभी जी आप से डर लगता हैं।

 हमे देखिये हम सच मे बस अपना काम करते हैं और काम के बीच ही आप से मुलाकात हो जाती हैं इसमें मेरा कोई मतलब या कुछ इरादा नहीं हैं। सुरभी अरे यार तुम तो सिरियस हो गये। अच्छा मे चलती हु मै भी यहाँ कुछ स्वीट लेने आई थी देखते हैं हमारी अगली मुलाकात कहा होती हैं लेकिन साहिल दुआ करना इस बार आपको हमसे डर ना लगे। बाय ।साहिल बाय बाय जी बाय बाय।

साहिल बाप रे अजीब लड़की हैं कही भी मील जाती हैं ।
पता नही इसके दिमाग मैं चल क्या रहा हैं। आकास का फोन हां भाई आया अभी बस दो मीनट में।
साहिल क्या हुआ तुने बहुत टाइम लगा दिया मैं दस मिनट से यहा बैठा हु ।क्या हो गया साहिल कुछ नही यार आज फिर से वो लड़की मील गई थी आकाश कौन वो बुक वाली।

हा यार वही उसका नाम सुरभी हैं अच्छा त़ो नाम भी बता दिया। खुद बताया या तुने पुछा अरे यार मैं क्यो उसका नाम पुछने लगा उसने ही खुद बताया यार वो अजीब हैं जब देखो कही ना कही मील जाती हैं और कुछ ना कुछ बात करने लग जाती हैं।साहिल यार मुझे तो लगता हैं वो ही तुझे फौलो करती हैं ।नही आकाश ऐसा कुछ नही हैं वो वही मीलती हैं जहां कोई भी काम से ही जाता हैं।

अभी वो भी स्वीट लेने ही आई थी वहाँ ये कोई फौलो करना नही होता। अब मुझे लगता है इस बार मीलेगी तो उससे वो बुक लेकर पढ़ ही लुंगा कम से कम फिर उसके पास कुछ बोलने के लिये नही होगा। आकाश ये हुई ना शेरो वाली बात चलो अब लंच करते हैं बाते तो करनी ही हैं लेकिन अभी पेट पुजा भी जरूरी हैं साहिल हा यार चलो।
।।
अब आगे क्या सुरभी सच मैं साहिल को फौलो।
करती हैं या फिर उनका मीलना बस एक सयोग हैं।
Www.edmranjit.com
Writing editing by ranjit choubeay.
26/09/2019

 पिज्जा डिलीवरी  साहिल विच सुरभि की प्रेम कहानी। Delivery Sahil Witch Surabhi's love story'26/09/2019💐part 07)

Comments

Popular posts from this blog

कुछ पल की जिंदगी हैं कुछ पल में मिट जाना हैं। /There are few moments of life to be erased in a few moments/

Poetry //कितनें सत्य जीवन के💐

अब जिंदगी मैं वापस जाना नहीं है //पोयम//💐