यु तो बहुत भीड़ है आस पास।पौयम💐

#Edmranjit

यु तो बहुत भीड़ है आस पास।पौयम💐

 यु तो बहुत भीड़ है आस पास। 
पर जिंदगी अकेली हैं। 
ना खुशियों के पल हैं ना कोई सुरह हैं। 
फिर भी जिंदगी अपनी है नसीब भी अपना है। 
बस समझ लिया खुद मैं ही ।
जीवन की यही पहेली हैं।। 

रिस्ता मेरा खुबसुरत हो चुकाँ हैं अब। 
दर्द की हर घडी़ के साथ। 
दुर जाना भी नहीं चाहता में तो। 
इस तरह जिंदगी के साथ। 
कोई कैसे समझ जाए अपने अलावा। 
हम भी जुड़े है किसी की जिंदगी के साथ। 

इंसान क्यों भटकता हैं दर बदर। 
खुद की तलाश तो भुल ही जाता हैं। 
दो पग आया कोई उसके साथ चलकर ।।
बेवकूफ इतने में ही बहुत इतराता हैं। 
जब समझ आता हैं मतलबी दुनियां का सच। 
तो यारों वहीं पागल खुद पुर मुश्कुराता हैं।। 

जीवन के सारे राज जो कभी खुल ही नहीं पाते। 
दुनियां के झुठे सच जो कभी धुल ही नहीं पाते। 
कुछ लोग तो कहते हैं हम पहले से समझ जाते। 
तो शायद इस रास्तें पर हम कभी चल ही नहीं पाते। 
एक सच ऐसा भी है हर सुबह दुनियां को करीब से। 
पढ़ने वाले ही दुनियां भर की दगाबाजी सीख जाते हैं। 

दो लब्जो से उठने वाली जिंदगी भी तबाह हो जाती हैं। 
एक शब्द की इमानदारी उम्र भर याद रह जाती हैं।। 
जिंदगी के रास्तों का कोई अंत नहीं होता समझ लेना। 
फिर भी किसी को उम्र भर चलकर मंजील नहीं  मिल पाती। 
साहिल कभी संमुन्दर का इंतजार नहीं करते प्यास के लिए। 
वो तो खुद ही सागर बन कर  उसमे समाता चला जाता हैं।। 
Www.edmranjit.com💐
Writing by ranjit choubeay. 👏
05/09/2019☝

यु तो बहुत भीड़ है आस पास।पौयम💐


Comments

Popular posts from this blog

कुछ पल की जिंदगी हैं कुछ पल में मिट जाना हैं। /There are few moments of life to be erased in a few moments/

Poetry //कितनें सत्य जीवन के💐

अब जिंदगी मैं वापस जाना नहीं है //पोयम//💐