Contact Form

Name

Email *

Message *

Search This Blog

Blog Archive

Search This Blog

Popular Tags

Translate

Popular Posts

फिशटेंक। एक इमोशनल टच💐

Edmranjit

फिशटेंक। एक इमोशनल टच💐

#फिशटेंक
         अगर मैं कहुँ आप जिंदगी मैं कामयाब नहीं हुये तो आप सच मैं अंधे हो? हो सकता है मेरी कही बात आपको अंदर तक मेरे प्रति गलत धारणा बनाने के लियें इतनी काफी हो ।वहीं अगर मैं आपकें सामने कुछ ऐसा उदहारण दु जो आपने ना कभी सोचा हो और ना ही देखा हो और अगर देखा भी हो तो आपका नजरिया वो नहीं समझ पाया हो जो समझने और देखने की जरूरत आपकों उस टाइम शायद थी या नहीं थी?इंसान परिस्थितियों के हिसाब से अपनें सामनें होनेवाली क्रियाओं को लेकर सोचने के लियें आजाद होता है?सबसें पहली बात हम सब भावात्मक प्राणी है तो आप को मेरा एक संदेश है आप अपनी भावनाओं को जिवित रखिये उसमें आप पक्छपात वाली कोई गलती न रखिये न किजिऐगा।अब आप को मै  एक दुसरी बात बोलता हु अगर आपकें आस पास किसी जीव की हत्या हो गई हो तो आपका रियेक्शन क्या होता है oh yar ya fir omg ya fir ye sahi nhi hua इसके बाद हम आगें की तरफ निकल जातें है?बस बात खत्म और फिर कुछ ही टाइम मैं हमारी भावनाओं का भी अंत।क्या आप के किसी अपनें के साथ गलत होगा तो आप अपनें इस रियेक्शन को इतनी जल्दी बदल सकतें हो नहीं बदल सकतें क्योंकि यहाँ आपकी भावनात्मक क्रियाओं मैं पक्छपात नहीं होगा वहां अपनापन स्नेह और जिम्मेदारी नजर आऐगी आपकों बस यहाँ सही रहोगे आप और कुछ ठिक ठिक रहेगा?नेचर प्राकृतिक कभी आपकें साथ अन्यान्य नही करती इंसान की कामयाबी मैं सबसे बड़ा स्थान एजूकेशन का नहीं होता अगर कुछ सबसे ज्यादा होता है तो वो है आपका सही नजरिया आपकी सोच आपका थीम आपका विश्वास आपकी मेहनत और फिर खुद आप?आज मैने सुनैना को देखा क्या लगता हैं आपको कौंन हो सकती है सुनैना बता दुँगा पहले एक ऐसा दृश्य बता दु आपको जो मुझे बहुत संघर्षमय लगा?मैने देखा एक फिश टेंक आपने भी देखा ही होगा या फिर आपके घर मैं भी हो सकता हैं?

फिशटेंक। एक इमोशनल टच💐

 उसमें मैने एक ऐसा जीवन देखा जो वाकई देखने से ज्यादा मुझे मेहसूस हुआ छोटी बड़ी सभी मछलियों का मेला है बहुत प्यार भी है इन सभी मछलियों मैं उसमें एक बड़ी मछली भी है? इंसान के जीवन मैं पैसा बहुत महत्व रखता है पर क्या जीवन से ज्यादा भी महत्वपूर्ण हो सकता है पैसा मेरे हिसाब से तो नहीं?फिश टेंक मैं दाना डालतें ही एक ऐसा सीन सामने आ गया जो बहुत ही अद्भुत था मैने कल्पना भी नहीं की थी की ऐसा भी मुमकिन हो सकता है एक मछली जीसकी आँखें ही नहीं हैं शायद उन्ही मछलियों मैं से
 किसी के साथ लडा़ई मैं उस बेचारी की आँखें फुट चुकी थी?
लेकिन गजब की प्रेक्टिस गजब का जुनून और गजब की फूर्ति थी उस अंधी मछली मैं जानते हैं आप क्यों क्योकी  जीवन भी एक जुनून एक प्रेक्टिस और फूर्ती का नाम हैं अगर आप जीवन मैं किसी एक घटना या दर्द से जीना छोड़कर हार जाओगे तो संसार के उजाले मैं जीनें वालें ये लोग आपको अंधा समझ आपका हिस्सा भी खा जाएंगे?मैंने देखा उस ब्लाईंड फिश को मन मैं स्नेह का वो स्थान उमड़ा जो अद्भुत था सीख ये मीली की जीवन भले ही छोटा हो पर उसमें जीनें की चाहत भरपूर होनी चाहिए रास्ते की रूकावटों से नहीं अपने आप से लड़कर चलें तो वहीं रास्ता रोशनी बन जाता हैं जो हमें कल तक हमें डरा रहा था?आपकी भावनाओं मैं अगर अपनापन है अगर वो
 सच मैं निश्छल हैं तो फिर आप भी एक सही और सच्चे इंसान हो ?वरना फिर कोई फिश टेंक की मछली हो या फिर कोई अंधा इंसान आपकें लिये तो सिर्फ दोनों को ही दबोच कर खत्म कर देने वाली बात होगी?मैंने तो उस फिश का नाम भी बता दिया है आपको अब आप को पता चल ही गया होगा उस प्यारी मछली का ही नाम हैं #सुनैना मैं समझता हु अब आप भी अपने आस पास प्राकृतिक की किसी भी वस्तु जीव या प्राणी से सीख लेंगे और अपने आपको खुशी और शहनशीलता की और ले जानें की कोशिश करेंगे?🙇
Www.edmranjit.com
Writing by ranjit choubeay.

फिशटेंक। एक इमोशनल टच💐

22/06/2019

No comments:

आपको ब्लाँग अच्छा लगा तो फौलो किजिए। आपका सुझाव हमें प्रेरित करेगा।