Contact Form

Name

Email *

Message *

Search This Blog

Blog Archive

Search This Blog

Popular Tags

Translate

Popular Posts

जीवन एक संघर्ष हैं स्वीकार करते हैं। और आज जीवन से जुड़ी कुछ बातों पर विचार करते हैं💐

Edmranjit.

जीवन एक संघर्ष हैं स्वीकार करते हैं। और आज जीवन से जुड़ी कुछ बातों पर विचार करते हैं💐

जीवन एक संघर्ष है, यह स्वीकार करते हैं.और आज जीवन से जुड़ी कुछ बातों पर विचार करते हैं। क्या है जीवन।
 क्या है इसमें सुख दुख के रहस्य। हम सब कहीं ना कहीं बस फंसे हूये है और फंसते ही जा रहे हैं। जल में मछली का जीवन होता हैं परन्तु वो सिर्फ़ वहीं जी सकती है जंगल में सिंह का राज होता है वो भी सिर्फ़ वहीं जी सकता है सिंह का जीवन कुछ हम मानवीय जीवन से मिलता जुलता है पर मछली का नहीं । एक सिंह अपने आसपास के समुचे वातावरण को अपने आधीन करने की कोशिश में लगा होता है।मछली पुरे जीवन अपने संघर्ष का अन्न खाती है। और सिंह अपने खौफ अपनी ताकत अपने रूतबे अपनी कूटनीति का सहारा लेकर समुचे जंगल को अपना शिकार बना लेता है। क्या आप नही जानते आज देश और दुनियां का 80%हिस्सा वहीं जल में जी रही मछली के समान हो चुका है जी हां यही सच्चाई हैं आज जो गरीबी भुखमरी बेरोजगारी का हिस्सा बना हुआ है उसे देख सोच और समझ कर तो यही लगता है की हम बस वहीं पानी में जी रही  कमजोर मछली ही है जो सिर्फ वहीं जीवन जीना चाहती है और एक दिन किसी बड़ी शार्क का शिकार होना चाहती है। क्या नहीं हो सकता सब कुछ हो सकता है अगर आप इस समाज मैं बड़े हो रहे सिंह का शिकार होना बंद कर दे  क्यो आज का समाज पहले जैसा संसकारी नही रहा मजबुत नही रहा इमानदार नही रहा क्यो कोई भी आऐगा और आपको छल कर खा कर चला जाऐगा। क्या आप और आप का समाज विवेकहीनता की और बढ़ रहा हैं।जी हां बढ़ रहा हैं  जानते हो क्यों।
लालच हिंसा जलन और दिखावा। में बहुत इमानदारी से कह रहा हु यही है आज का अंखड समाज मैं जानता हूँ अगर आप का पड़ोसी आज बेंज कार लाऐगा तो आप पहलें जलोगें फिर लोगों से बातें बनाओगें और कहोगे साला दो नंबर से लाया होगा गलत तरीके से कमाया पैसा होगा। सोच तो सही  भी सकती है आपकी हो सकता हैं। फिर बाद में आपको लालच भी आएगा आप अपने पडो़सी से नजदिकियां बनाओगै क्योंकि अब आपको लालच भी आऐगा। और अगर आपकी मंसा समझ कर या आपको खुद से गरीब समझ कर पड़ोसी नै अनदेखा कर दिया आप को अपने स्टेटस से कम आंक दिया तो फिर आप हिंसा पर भी उतर जाते हो।

जीवन एक संघर्ष हैं स्वीकार करते हैं। और आज जीवन से जुड़ी कुछ बातों पर विचार करते हैं💐

अब अगर आप को दिखावा करना ही है तो अपने पडो़सी की तरह सोचो समझो वर्क करो बन जाओ अमीर और खत्म करो अपने दुख को।
याद रखो आपका पडो़सी वहीं सिंह हैं जो बहुतो पर राज कर रहा है वो उन्हीं 20%लोगो मैं है जो दुनियां को मुट्ठी मैं करना चाहते हैं। व्यक्ति का सबसे बड़ा संघर्ष खुद से है अपनी सोच अपनी समझ और अपने विचारों से है ।किसी पडो़सी से जलने की जरूरत नहीं । ना किसी दिखावे की जरूरत है बस अपने आसपास मैं हो रहे वर्क को को समझो सही और गलत समाज की परख करों अगर आप का नेता सही नहीं तो चेंज करो ।अगर आप का टीचर सही नहीं  तो चेंज करो
अगर आपके घर का महौल सही नहीं तो सबको साथ लेकर समझ कर माहौल सही करो।खुद अपने आपको सही करो अपने साथ चलने वाले समाज कुटुंब की समझ को समझो। अगर आप उनसे ज्यादा परिपक्व हो तो उन्हें सक्षम बनाओ।
किसी सिंह का निवाला नहीं बनना हैं। बल्कि समाज मैं बढंते जा रहे इस जंगलरूपी 20%भेंडियों को सबक सिखाना है जीवन को उस मछली की तरह न जीना है और ना ही किसी सार्क का निवाला बनना हैं ।बताओं उन चंद अमीरो को जो आपके अपने ही देश की अखंडता पर वार कर रहे हैं।
खत्म करों इस जातिवादी राजनीति पर मिटा दो ये पूजिंवादी राजनीति को मिटा दो वंशवाद की राजनीति को हमारा भारत सम्राट अशोक चंद्रगुप्त मोर्या और आचार्य चाणक्य का देश हैं हमारा भारत स्वामी विवेकानंद  स्वामी रामाकृष्ण परमहंस का देश है ये भगवान राम श्री कृष्ण का देश हैं।
मिटा दो ऐसे चंद राक्षस राजनीति करने वाले कायरो को जो सिर्फ और सिर्फ़ देश की जनता को गुमराह कर रहे है जनमानस के भाईचारे को मिटा कर देश को बेच रहे हैं।
कोई गरीब आरक्षण नहीं चाहता गरीब मेहनत और ईमानदारी की रोटी चाहता हैं उसे सिर्फ़ उसकी इमानदारी का उचित मुल्य दिया जाना चाहिए। आप स्वय विचार कीजिए कौन सिर्फ अपना अपना सोचता हैं। अंसर होगा सिर्फ अमीर नेता और उद्योगपति। उचित होगा आज समाज एकजुट होकर खुद इन चंद हरामखोरो को इनकी जगह दिखाऐं.
Www.edmranjit.com
दिंनाक 21/6/2019
Writing by ranjit choubeay

जीवन एक संघर्ष हैं स्वीकार करते हैं। और आज जीवन से जुड़ी कुछ बातों पर विचार करते हैं💐

No comments:

आपको ब्लाँग अच्छा लगा तो फौलो किजिए। आपका सुझाव हमें प्रेरित करेगा।